blogid : 3738 postid : 633635

रवीना टंडन: खिलाड़ी भी घायल हुए थे इन आंखों के तीर से

Posted On: 26 Oct, 2013 Others,Entertainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

90 के दशक में बॉलीवुड की अभिनेत्रियां लटके-झटके मारकर अपने प्रशंसकों का दिल खुश करती थीं. उस दौरान फिल्म में उनकी भूमिका खास नहीं होती थी. अभिनेत्री रवीना टंडन की छवि भी मस्त-मस्त अभिनेत्री की रही है. उन्होंने शुरुआती फिल्मों में लटके-झटके मारकर अपने कॅरियर को उंचाई दी.


raveena tandonरवीना टंडन का बचपन

26 अक्टूबर, 1974 को जन्मी रवीना टंडन के पिता फिल्मकार रवि टंडन थे. उनकी मां का नाम वीना था और अपने माता पिता के नाम पर ही उनका नाम रवीना पड़ा. मुंबई के “जमनाबाई नर्सरी स्कूल” और “मीठीबाई कॉलेज” से पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने मॉडलिंग के क्षेत्र में कदम रखा. कॉलेज के दौरान ही उन्हें फिल्में करने के ऑफर मिलने लगे.


Read: नस्लभेदी टिप्पणियों का शिकार हुआ पूर्व क्रिकेटर


रवीना टंडन का कॅरियर

साल 1991 में फिल्म “पत्थर के फूल” से रवीना ने अपने कॅरियर की शुरूआत की. इसके बाद उन्हें 1994 में “मोहरा” और दिलवाले जैसी सुपरहिट फिल्में करने का मौका मिला जहां उन्होंने अपनी अदाकारी का जमकर प्रदर्शन किया. इन दो फिल्मों ने उन्हें बॉलिवुड की टॉप हिरोइनों में ला खड़ा किया. 1995 की फिल्म ‘अंदाज अपना अपना’ और “जमाना दीवाना” से उन्होंने अपने कॅरियर को सफल बनाए रखा. साल 1996 और 1997 में रवीना टंडन की दो सफल फिल्में आईं जिसमें फिल्म “खिलाड़ियों का खिलाड़ी” और इसके अगले साल प्रदर्शित फिल्म “जिद्दी” शामिल थी.


रोमांटिक से साथ कॉमेडी फिल्में भी की

रवीना टंडन ने हर तरह की फिल्मों में हाथ आजमाया. शुरुआत में उन्होंने मोहरा और दिलवाले जैसे रोमांटिक फिल्में कीं तो बाद में उन्होंने कॉमेडी फिल्मों की ओर रुख किया. उनकी जोडी गोविंदा के साथ काफी हिट रही. उनकी कॉमेडी फिल्मों में अंदाज अपना अपना, दुल्हे राजा, आंटी नंबर वन, बड़े मियां छोटे मियां, राजाजी, अंखियों से गोली मारे जैसे कॉमेडी फिल्में रहीं.

‘मोहरा’ फिल्म में ‘तू चीज बड़ी है मस्त-मस्त..’ गाने पर अपने डांस और अंखियों से गोली मारने वाली रवीना टंडन अब गंभीर भूमिका में दिखना चाहती हैं. फिल्म लैबोरेटरी भी एक ऐसी ही फिल्म है. यह एक सिख औरत की कहानी है जिसकी शादी एक बंगाली वैज्ञानिक से होती है. जल्दी ही उसकी मौत हो जाती है. उसके बाद वह अनपढ़ महिला पढ़-लिख कर अपने पति की लैबोरेटरी को दोबारा शुरू करती है. रवीना ने इस फिल्म में पंजाबी महिला की भूमिका निभाई है. ढलते कॅरियर के इस दौर में रवीना ने तेलगू फिल्मों को भी अपना लिया है.


Read More:

Love Stories and Affairs of Akshay Kumar

रवीना टंडन : जन्मदिन विशेषांक

सांप्रदायिक पार्टी बनकर हित साधती कांग्रेस?



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran