blogid : 3738 postid : 620053

शारदीय नवरात्र तिथि और आराधना मंत्र

Posted On: 5 Oct, 2013 Others,Religious में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

घट स्थापना: घट स्थापना का समय 05 अक्टूबर 2013, शनिवार को अश्विन शुक्ल प्रतिपदा के दिन प्रात:काल 08 बजकर 05 मिनट से 09 बजे तक रहेगा. इसके पश्चात दोपहर 12 बजकर 03 मिनट से दोपहर 12 बजकर 50 मिनट तक के मध्य में भी घट स्थापना की जा सकती है.


शारदीय नवरात्र तिथि- Shardiya Navratri Date


Read: नारी शक्ति पर्व ‘नवरात्र’ – वेदना श्रद्धेय होने की

नवरात्रि स्पेशल: खूब खाएं और वजन घटाएं


1. पहला नवरात्र, प्रथमा तिथि, 5 अक्टूबर 2013, दिन शनिवार, 3:35 pm तक

2. दूसरा नवरात्र, द्वितीया तिथि, 6 अक्टूबर 2013 दिन रविवार, 3:17 pm तक

3. तीसरा नवरात्र, तृतीया तिथि, 7 अक्टूबर 2013, दिन सोमवार, 1:58 pm तक

4. चौथा नवरात्र, चतुर्थी तिथि, 8 अक्टूबर 2013 , मंगलवार, 12:05 pm तक

5. पांचवां नवरात्र , पंचमी तिथि , 9 अक्टूबर 2013, बुधवार, 10:01 pm तक

6. छठा नवरात्र, षष्ठी तिथि, 10 अक्टूबर 2013, गुरुवार, 07:51 pm तक

7. सातवां नवरात्र, सप्तमी तिथि, 11 अक्टूबर 2013, शुक्रवार, 05:39 तक

8. आठवां नवरात्र, अष्टमी तिथि, 12 अक्टूबर 2013, शनिवार, 03:27 pm तक

9. नौवां नवरात्र, नवमी तिथि, 13 अक्टूबर 2013, रविवार, 01:18 pm तक

10. दशहरा, दशमी तिथि, 13 अक्टूबर 2013, रविवार, 01:18 pm से आरंभ और 14 अक्टूबर को प्रात:काल 11:16 am तक


Read:  नवरात्र के नौ दिन और हर दिन की विशेष पूजन विधि


देवी आराधना मंत्र

1. शैलपुत्री: वन्दे वांछित लाभाय चन्द्राद्र्वकृतशेखराम्। वृषारूढ़ा शूलधरां यशस्विनीम्॥


2. ब्रह्मचारिणी: दधाना करपद्माभ्यामक्षमालाकमण्डलू। देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा॥


3. चंद्रघंटा: पिण्डजप्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकेर्युता। प्रसादं तनुते मह्यं चंद्रघण्टेति विश्रुता॥


4. कूष्माण्डा: सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च। दधाना हस्तपद्माभ्यां कुष्मांडा शुभदास्तु मे॥


5. स्कंदमाता: सिंहसनगता नित्यं पद्माश्रितकरद्वया। शुभदास्तु सदा देवी स्कंदमाता यशस्विनी॥


6. कात्यायनी: चंद्रहासोज्ज्वलकरा शार्दूलवरवाहना। कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनी॥


7. कालरात्रि: एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता। लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी॥


वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा। वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयंकरी॥


8. महागौरी: श्वेते वृषे समारूढ़ा श्वेताम्बरधरा शुचिः। महागौरी शुभं दद्यान्महादेवप्रमोदया॥


9. सिद्धिदात्री: आपच्च्सिद्धगन्धर्वयक्षाघरसुरैरमरैरपि। सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी॥



Read More:

शैलपुत्री: शुभ जीवन सद्भावना

शारदीय नवरात्र 2013: ब्रह्मचारिणी देवी

शारदीय नवरात्र 2013: माता चन्द्रघंटा

शारदीय नवरात्र 2013: कूष्माण्डा

शारदीय नवरात्र 2013: देवी स्कन्दमाता

शारदीय नवरात्र 2013: मां कात्यायनी

भक्तों को सभी कष्टों से मुक्त करने वाली मां कालरात्रि

शारदीय नवरात्र 2013: महागौरी

शारदीय नवरात्र 2013: माता सिद्धिदात्री



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran