blogid : 3738 postid : 3777

M Karunanidhi: परिवार से इतर कुछ और नहीं

Posted On: 2 Jun, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भारतीय राजनीति में परिवारवाद धीरे-धीरे अपनी जड़ें मजबूत करता जा रहा है. आज लगभग देश के सभी क्षेत्रीय और राष्ट्रीय राजनीतिक दलों के मुखिया अपने-अपने उत्तराधिकारी घोषित कर चुके हैं या फिर करने की तैयारी में हैं. इन्हीं परिवारों में दक्षिण भारत के सबसे मजबूत परिवार माने जाने वाले डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि (M Karunanidhi) का परिवार है. तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री करुणानिधि पूरे देश में अपने शासन के लिए कम इस बात के लिए ज्यादा प्रसिद्ध हैं कि उन्होंने अपनी गलत कारगुजारियों की वजह से परिवार के हर एक सदस्य को चाहे वह कितना भी दूर का रिश्ता रखने वाला क्यों न हो उसे फायदा पहुंचाया है. भ्रष्टाचार और घपलों की वजह से इनका पूरा परिवार देशभर में विख्यात है.


karunanidhiकरुणानिधि का परिवार: M Karunanidhi Family

आपको बता दें करुणानिधि ने तीन बार शादी की है. उनकी तीन पत्नियां हैं पद्मावती, दयालु आम्माल और रजतिअम्माल. करुणानिधि के चार बेटे एम.के. मुत्तु, एम.के. अलागिरी, एम.के. स्टालिन और एम.के. तामिलरसु हैं. उनकी पुत्रियां सेल्वी और कानिमोझी हैं जिसमें से कानिमोझी राज्यसभा की सांसद हैं. पढ़ा लिखा और आधुनिक होने के बाद भी करुणानिधि (M Karunanidhi) बृहस्पति ग्रह शान्ति के लिए पीला वस्त्र पहनते हैं. इनमें एम.के. अलागिरी, एम.के. स्टालिन और कानिमोझी पर भ्रष्टाचार के कई गंभीर आरोप लग चुके हैं.


Read: चढ़ता पारा सिकुड़ती अर्थव्यवस्था


हाल ही में सीबीआई की एक टीम ने करुणानिधि के उत्तराधिकारी माने जा रहे उनके पुत्र स्टालिन के चेन्नई स्थित घर पर छापा मारा. स्टालिन के घर सीबीआई विदेशी गाड़ी की तलाश में पहुंची. उन पर गाड़ी पर ड्यूटी नहीं चुकाने का आरोप है. फिलहाल यह मामला राजनीति की वजह से दबता हुआ दिख रहा है. वैसे विवादों के मामले में स्वयं एम करुणानिधि का राजनैतिक कॅरियर विवादों से ग्रस्त रहा है. चाहे हिंदी विरोधी अभियान के दौरान उनका रवैया, राम सेतु विवाद हो या एलटीटीई के साथ उनके संबंध करुणानिधि हमेशा ही शक के घेरे में रहे हैं.


Read: कुछ यूं ‘लाल बजरी’ अस्तित्व में आया


करुणानिधि और तमिल मुद्दे : Politics in Tamil Issues

हाल ही में जब श्रीलंका के तमिल मुद्दे पर केंद्र की यूपीए सरकार से समर्थन वापस लेने की बात सामने आई तब भी उन पर आरोप लगे कि अपने व्यक्तिगत राजनीति के चलते देश की विदेश नीति को प्रभावित कर रहे हैं. वैसे यह सब करने के लिए परिवार के सदस्यों ने ही उकसाया था. डीएमके में समर्थन वापसी को लेकर बातचीत पिछले एक साल से चल रही थी. करुणानिधि (M Karunanidhi) के उत्तराधिकारी माने जा रहे उनके पुत्र स्टालिन उस धड़े की नुमाइंदगी कर रहे थे जो केंद्र सरकार से समर्थन वापसी के पक्ष में था. लेकिन करुणानिधि की पहचान एक ऐसे नेता के तौर पर रही है जो संबंधों को निभाने के लिए जाना जाता है. लेकिन तमिलनाडु में जयललिता की बढ़ती ताकत और केंद्र सरकार की नाकामियों ने प्रदेश में डीएमके के लिए अपनी ताकत को बनाए रखना मुश्किल कर दिया था. मजबूरन करुणानिधि को यूपीए से समर्थन वापस लेना पड़ा.


करुणानिधि  का जीवन : M Karunanidhi Life

करुणानिधि (M Karunanidhi) का जन्म 3 जून, 1924 को तिरुक्कुवलइ में हुआ था. उनका बचपन का नाम दक्षिणमूर्ति था. वे तमिल सिनेमा जगत के एक नाटककार और पटकथा लेखक भी हैं. उनके समर्थक उन्हें कलाईनार (तमिल कला का विद्वान) कहकर बुलाते हैं.


Read More

एम करुणानिधि (M. Karunanidhi) – तमिलनाडु के अपराजित नेता


Tags: m karunanidhi, m karunanidhi in hindi, m karunanidhi family, m karunanidhi family, dmk party, dmk party latest news, dmk karunanidhi, एम करुणानिधि, डीएमके.




Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

145 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran