blogid : 3738 postid : 3639

मुकेश अंबानी: इन्हें भारत के सबसे धनी व्यक्ति का खिताब हासिल है

Posted On: 18 Apr, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

mukesh ambaniभारत में एक ऐसे उद्योगपति हैं जिन्होंने न केवल अपने आलीसान जीवन शैली से दूसरों को प्रभावित किया है बल्कि अपनी काबीलियत और क्षमता से एक ऐसा मुकाम हासिल किया कि विश्वभर में उनकी पहचान बड़े और अमीर उद्योगपतियों में होती है. हम बात कर रहे हैं कभी वैश्विक कारोबारी पत्रिका फोर्ब्स में भारत की तरफ से सबसे अमीर भारतीय बनने का दर्जा हासिल करने वाले तो कभी अपने काले धन की वजह से विवादों में रहने अरबपति मुकेश अंबानी की.


Read: आईपीएल में हैट्रिक का इतिहास


मुकेश अंबानी का जीवन

रिलांयस के कर्ताधर्ता रहे धीरूभाई अंबानी के पड़े पुत्र मुकेश अंबानी का जन्म 19 अप्रैल, 1957 को यमन में हुआ. वह बचपन से ही महात्वाकांक्षी रहे हैं. शुरुआत से ही उन्हें पता था कि अपने पिता द्वारा तैयार किए गए कारोबार को कैसे बुलंदियों तक पहुंचाया जा सकता है. यह जानकर आपको आश्चर्य हो सकता है कि वे भी कॉलेज ड्रॉपआउट बिलियनेयर हैं. दरअसल, मुकेश अंबानी की स्कूली शिक्षा मुंबई से हुई थी. इसके बाद उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से ही केमिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की, लेकिन जब वे एमबीए करने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी गए, तो एक साल बाद ही वे कोर्स बीच में ही छोड़कर अपने पिताजी की सहायता के लिए भारत लौट आए.


मुकेश अंबानी का सफर

वर्ष 1981 में मुकेश अंबानी रिलायंस ग्रुप में शामिल हुए. उन्होंने शुरुआत में टेक्सटाइल से पॉलिएस्टर फाइबर और फिर पेट्रोकेमिकल के क्षेत्र में अपना हाथ आजमाया. वे अपने प्रयास से इस कंपनी को नई उंचाइयों पर ले गए. इसके बाद तो मुकेश अंबानी रुकने वाले कहां थे. उन्होंने धीरे-धीरे कंपनी के सारे फैसले अपने हाथ में ले लिए. उन्होंने रिलायंस इंडस्ट्रीज को नए मुकाम तक पहुंचाया. आज के समय वह न केवल रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन, मैनेजिंग डायरेक्टर और कंपनी के सबसे बड़े शेयर धारक हैं बल्कि भारत सहित दुनिया में उनकी अपनी एक पहचान है. उनकी सबसे बड़ी उपलब्धियों में जामनगर गुजरात में बुनियादी स्तर की विश्व की सबसे बड़ी पेट्रोलियम रिफाइनरी की स्थापना है. 26 बिलियन अमरीकी डॉलर के निवेश से बनी इस रिफायनरी में पेट्रोकेमिकल, पावर जेनरेशन, पोर्ट तथा संबंधित आधारभूत ढांचा है.


Read: भगोड़े बने जनरल परवेज मुशर्रफ


अंबानी बंधुओं में बंटवारा

मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज द्वारा कई क्षेत्रों में कारोबारी सफलता के कई नए कीर्तिमान स्‍थापित करने के बाद वर्ष 2002 में धीरूभाई अंबानी के ड्रीम प्रोजेक्ट रिलायंस इन्फोकॉम के क्षेत्र में कदम रखा. इस कंपनी को 31 जुलाई, 2002 को रजिस्टर्ड कराया गया. लेकिन बाद में जब अंबानी परिवार में दोनों भाइयों मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी के बीच 2005 में विवाद पैदा हुआ तो बंटवारे के बाद रिलायंस इन्फोकॉम का स्वामित्व छोटे भाई यानी अनिल अंबानी के पास आ गया. बंटवारे के बाद मुकेश अंबानी ने रिटेल क्षेत्र को अपना निशाना बनाया है और वे इस क्षेत्र में भारी निवेश कर रहे हैं. देश के कई जगहों पर उन्हें विशेष आर्थिक जोन बनाने की अनुमति भी मिली है.


भारत में सबसे अमीर

यह हर कोई जानता है कि इंडियन प्रीमियर लीग की टीम मुंबई इंडियंस और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी देश के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक हैं. वह इस पायदान पर लगातार कई सालों से जमे हुए हैं. वैश्विक कारोबारी पत्रिका फोर्ब्स की 100 भारतीय धनवानों की सूची में इस्पात क्षेत्र के दिग्गज लक्ष्मी नारायण मित्तल की हैसियत भी इनसे कम आंकी गई है. वह सूची में दूसरे स्थान पर हैं. फोर्ब्स का यह आंकड़ा अक्टूबर 2012 का है. वैसे अंबानी बंधुओं के बारे में कहा जाता है कि अगर दोनों भाई अलग नहीं हुए होते, तो वे इस धरती के सबसे धनी व्यक्ति होते.


दुनिया का सबसे महंगा घर

बिजनेसमैन मुकेश इस बात के लिए भी विश्वविख्यात हैं कि उनके 27 मंजिलों वाले बहुचर्चित घर ‘ऐंटीलिया’ को दुनिया के अरबपतियों के सबसे महंगे घरों की लिस्ट में टॉप पर रखा गया है. फोर्ब्स के मुताबिक, इस घर की कीमत 63 करोड़ पाउंड यानी करीब एक अरब डॉलर है. मैगजीन के अनुसार इस आलीशान घर की छह मंजिलों पर केवल पार्किंग और गैरेज हैं तथा रहने के लिए चार लाख वर्ग फुट जगह है जिसमें एक बॉलरूम है जिसकी छत क्रिस्टल से सजाई गई है. इस घर में एक सिनेमा थियेटर, बार, तीन हैलिपैड के अलावा सभी अत्याधुनिक सुख सुविधाएं मौजूद हैं. ऐंटीलिया में काम करने के लिए 600 कर्मचारियों की जरूरत होती है. इस इमारत की छत से मुंबई और समुद्र का नजारा देखा जा सकता है. पिछले दिनों आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन की ओर से आलीशान 27 मंजिला घर ऐंटीलिया को निशाना बनाने की धमकी दिए जाने के बाद इसकी सुरक्षा बढ़ा दी गई.


मुकेश अंबानी और विवाद

पिछले साल दिसंबर में आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने मुकेश अंबानी पर आरोप लगया कि इनके स्विस बैंक अकाउंट में काले धन के रूप में पैसा जमा किया जा रहा है.

इसके अलावा अरविंद केजरीवाल ने केजी डी-6 बेसिन पर कांग्रेस और बीजेपी का रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी के साथ सांठगांठ का आरोप लगाते हुए कहा था कि लगता है कि देश को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह नहीं बल्कि मुकेश अंबानी चला रहे हैं. उन्होंने अपने नए खुलासे में कहा कि केजी बेसिन मामले में मुकेश अंबानी सरकार को ब्लैकमेल कर रहे हैं. गैस निकालने के लिए अंबानी ने पैसे बढ़ाकर मांगे और सरकार ने उन्‍हें मनमानी करने दी जिसकी वजह से देश में महंगाई भी बढ़ी.


Read more:


रिलायंस एक नए क्षितिज की ओर

टाटा समूह के ‘रत्न’ हैं रतन टाटा

दुलरुवा मुकेश अंबानी की आवभगत करता है प्रधानमंत्री कार्यालय


Tags: mukesh ambani,  mukesh ambani  in hindi, Mukesh Dhirubhai Ambani, , Indian business magnate, Reliance Industries Limited, Dhirubhai Ambani, Kokilaben Ambani, Nita Ambani, Indian billionaire industrialist. मुकेश अंबानी, कारोबारी मुकेश अंबानी, रिलायंस इंडस्ट्रीज




Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran