blogid : 3738 postid : 3308

Vidya Balan: खान नहीं “बालन” का है जमाना

Posted On: 1 Jan, 2013 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


बॉलिवुड में आज कहा जाता है कि अगर आपके नाम के साथ खान जुड़ा हो तो सफलता आपके पास हमेशा गुलाम बनकर आती है. इस “खान” ब्रांड के आगे बॉलिवुड के बड़े से बड़े घराने भी फेल होते नजर आते हैं. लेकिन पिछले काफी समय से इस “खान” ब्रांड को खुली चुनौती मिली है ब्रांड “बालन” से. विद्या बालन आज बॉलिवुड में वह नाम हो गई हैं जो सफलता और नवीनता की गारंटी बन चुकी हैं.

Read: Profile of Vidhya Balan


अकसर बॉलिवुड में कलाकार सह अभिनेता और सह अभिनेत्री के रूप में खुद को बांधने के बाद कभी मुख्य कलाकार की भूमिका में नहीं आ पाते. लेकिन विद्या बालन ने छोटी-छोटी भूमिकाओं से खुद को इस तरह संवारा की आज वह खुद अपने दम पर बिना किसी अभिनेता के ही फिल्में हिट करवा सकती हैं. हाल ही में आई “द डर्टी पिक्चर” और “कहानी” की सफलता के बाद तो जैसे बॉलिवुड में विद्या बालन का नाम ही सफलता का पर्याय हो चुका है.

Read: क्या विद्या बालन ने शादी से पहले मनाई हनीमून


विद्या बालन ने हिन्दी सिनेमा में आज वह स्थान बना लिया है जहां कभी माधुरी और हेमा मालिनी जैसी अभिनेत्रियां खड़ी थी. आज उनकी उपस्थिति दर्शकों को सिनेमाघर में खींचने के लिए काफी होती है. हर किरदार में उन्होंने अपनी बेहतरीन अदाकारी का नमूना पेश किया है. ‍जिस कारण उनके मुरीदों की संख्या में जोरदार ‍इजाफा हुआ है. लोगों ने तो उन्हें फिल्म इंडस्ट्री की लेडी खान कह डाला है और उन्हें यह सलाह दी है कि वे भी अपने नाम के आगे अब खान लगाने लग जाएं.


विद्या बालन का जीवन

विद्या बालन का जन्म 01 जनवरी, 1978 को केरल में हुआ था. उनके पिता पी.आर बालन ईटीसी टीवी के वाइस प्रेसीडेंट हैं. सेंट एंथनी गर्ल्स हाई स्कूल, केरल से अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी कर विद्या बालन ने सेंट जेवियर कॉलेज से स्नातक की डिग्री ली. इसके बाद यूनिवर्सिटी ऑफ मुंबई से उन्होंने एम.ए. की डिग्री ली.


विद्या बालन का कॅरियर

“हम पांच” और “हंसते-हंसते” जैसे धारावाहिकों में कुछ दिनों तक अपनी अभिनय-प्रतिभा का प्रदर्शन करने के बाद विद्या ने जल्द ही छोटे पर्दे से किनारा कर लिया. पहली ही फिल्म परिणीता में विद्या ने अपनी अभिनय-क्षमता का बेहतरीन प्रमाण दिया और अपनी शुरूआती प्रभावी पहचान बनाने में सफल रहीं. हालांकि यह फिल्म उन्हें बहुत मुश्किल से मिली थी और इस फिल्म के लिए उन्हें  67 बार मेकअप शॉट और स्क्रीन टेस्ट से गुजरना पड़ा तब कहीं जाकर उन्हें यह रोल मिला . लेकिन इस फिल्म के बाद वह जल्द ही कई बड़े और दिग्गज निर्माता-निर्देशकों की पसंद बन गयीं. उनकी झोली में कई उल्लेखनीय फिल्में आनी शुरू हो गयीं.


विद्या की विविधता

विद्या बालन ने अभी तक के कॅरियर में कई चुनौतीपूर्ण फिल्में की है. उनकी फिल्मी की विशेषता उनके किरदारों की विविधता रही है. लगे रहो “मुन्नाभाई” में दिशाहीन मुन्नाभाई को सार्थक जीवन जीने की प्रेरणा देने वाली रेडियो जॉकी की भूमिका हो या, “हे बेबी” में छह महीने की बच्ची की मां की संवेदनशील भूमिका, विद्या ने अपने परिपक्व अभिनय का प्रमाण दिया. “भूल भूलैया” में मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला की भूमिका विद्या बालन के छोटे से फिल्मी कॅरियर में मील का पत्थर साबित हुई. इसके अलावा अगर उनकी चुनौतीपूर्ण फिल्मों की बात की जाए तो लिस्ट “पा”, “कहानी” और “द डर्टी पिक्चर” आदि शामिल हैं.


फिल्म परिणीता, गुरु, पा, भूल भूलैया, इश्किया, नो वन किल्ड जेसिका, द डर्टी पिक्चर और कहानी में उनके अभिनय ने लोगों के दिलों में अपनी अमिट छाप छोड़ी है.


विद्या बालन को मिले पुरस्कार

  • फिल्मफेयर अवार्ड : सर्वश्रेष्ट अभिनेत्री

2006 : “परिणीता” के लिए

2010: “पा” के लिए

  • फिल्मफेयर अवार्ड : सर्वश्रेष्ट अभिनेत्री (क्रिटिक्स चॉइंस)

2011: “इश्किया” के लिए

  • राष्ट्रीय पुरस्कार: सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री

2012: “द डर्टी पिक्चर” के लिए


अब विद्या बालन हुई विद्या बालन कपूर

साल 2012 में विद्या बालन ने अपने प्रेमी और यूटीवी के सीईओ सिद्धार्थ राय कपूर के साथ शादी रचाई. 34 वर्षीय विद्या की यह पहली शादी थी जबकि सिद्धार्थ रॉय कपूर की ये तीसरी शादी है. विद्या बालन मलयाली हैं जबकि सिद्धार्थ रॉय कपूर पंजाबी हैं. दोनों काफी लंबे समय से सिद्धार्थ के साथ लव अफेयर में थीं जिसे उन्होंने शादी के बंधन में बदल लिया.


उम्मीद है आगे भी विद्या बालन अपनी अदाकारी से भारतीय पुरुषप्रधान सिनेमा जगत में नारियों की अगुवाई करती रहेंगी और बॉलिवुड में अपने लिए सफलता के नए आयाम तय करेंगी.


Tag: Vidhya Balan, विद्या बालन, द डर्टी पिक्चर, कहानी, बॉलीवुड, विद्या बालन की फिल्में, Vidya Balan marriage, Vidya Balan dirty picture, Vidya Balan, विद्या बालन, Vidya Balan Kissing Scenes, Vidya Balan Affairs





Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Christiana के द्वारा
June 11, 2016

C’est à quel moment qu’il faut rire ?La patate principale c’est le gribouilleur, qui ne fait rire que luemvê-i.Maumais dessin – même pas drôle.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran