blogid : 3738 postid : 2770

Independence Day 2012: क्या यही हैं आजादी के मायने

Posted On: 11 Aug, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


कौन आज़ाद हुआ, किसके माथे से ग़ुलामी की सियाही छूटी
मादरे-हिन्‍द के चेहरे पे उदासी वही, कौन आज़ाद हुआ…


Independence Day in Hindi

आगामी 15 अगस्त को भारत अपना 66वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है. कुछ ही दिनों बाद भारत की आजादी का वह महापर्व आने वाला है. आजादी के इस महापर्व में कई महान देश भक्तों की आहुति दी गई है तब जाकर यह हमें प्राप्त हुई है. आजादी का सही अर्थ वही समझ सकता है जिसने गुलामी के दिन झेले हों.

Read: An Unsung Hero of Freedom


Indian Independence HistoryWhat is Freedom: क्या है आजादी

आजादी को परिभाषित करना बहुत मुश्किल है. हर इंसान अपनी बुद्धि का सही उपयोग करते हुए आजादी की सीमा तय करता है. हर व्यक्ति स्वतंत्र रहना चाहता है, परंतु इसकी अधिकता कभी-कभी नुकसानदेह साबित होती है.


आजादी का अर्थ है - विकास के पथ पर आगे बढकर देश और समाज को ऐसी दिशा देना, जिससे हमारे देश की संस्कृति की सोंधी खुशबू चारों ओर फैल सके. लेकिन आज हमारी युवा पीढ़ी आजादी के सही मायने भूलती जा रही है. युवा लोग पाश्चात्य संस्कृति से अत्यधिक प्रभावित हो रहे हैं. आज हमें अपनी आजादी का सदुपयोग करते हुए समाज और देश को विकास के पथ पर ले जाना चाहिए.


dandimarchWhats Freedom for you????: क्या यही है आजादी

आज बेटी-बेटे को समानता का दर्जा दिया जाता है, लेकिन समाज का माहौल देखते हुए लडकियों की सुरक्षा की दृष्टि से माता-पिता उनकी आजादी की सीमाएं तय कर देते हैं, जो कि किसी दृष्टि से गलत नहीं है. यही बात बेटों पर भी लागू होती है. उन्हें भी अनुशासित करने के लिए समय-समय पर उनकी आजादी की सीमाएं तय करना बहुत जरूरी है. आजादी में संतुलन बहुत जरूरी है.


आज एक जुर्म करने के लिए एक अमीर आदमी को तो कुछ घंटों की सजा या फिर बिना सजा के ही छोड़ दिया जाता है लेकिन एक गरीब आदमी को छोटे से छोटे जुर्म या कभी-कभी जो जुर्म उसने किया भी ना हो उसकी सजा भी मिल जाती है.


Whats Freedom for Youth: युवाओं के लिए आजादी

वर्षों की गुलामी सहने और लाखों देशवासियों का जीवन खोने के बाद हमने यह बहुमूल्य आजादी पाई है. लेकिन आज की युवा पीढ़ी आजादी का वास्तविक अर्थ भूलती जा रही है. पश्चिमी संस्कृति का अनुसरण कर वह अपनी सभ्यता, संस्कृति और विरासत से दूर होती जा रही है. इस संदर्भ में किसी कवि ने खूब लिखा है कि:


भगतसिंह इस बार न लेना, काया भारतवासी की
क्यूंकि देशभक्ति के लिए आज भी सज़ा मिलेगी फांसी की


जिस आजादी के लिए हमने देश के लिए कई महान वीरों की आहुति दी है उस आजादी को ऐसे बर्बाद करना बिलकुल सही नहीं है. हमें देश को भ्रष्टाचार, गरीबी, नशाखोरी, अज्ञानता से आजादी दिलाने की कोशिश करनी चाहिए. देश को शायद आज एक नए स्वतंत्रता संग्राम की जरूरत है लेकिन सवाल यह है कि आखिर यह आजादी हो कैसी?

Read: क्रांतिकारियों की दास्तां


Tag: Independence day history in Hindi, Independence day in Hindi, Independence Day Speech, What is freedom?, What Freedom Means to Me, freedom, free, w hen is Independence Day in 2012, India’s Independence Day, Independence Day of India 2012, india independence day 2012



Tags:                                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (55 votes, average: 4.16 out of 5)
Loading ... Loading ...

7 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

ISHWAR BHARDWAJ के द्वारा
August 14, 2014

परुपरुररबिपिरपुहकपुहगतुबकर

kapil के द्वारा
August 13, 2014

कृपया मुझे दूसरा स्पीच दीजिये

tiara के द्वारा
August 16, 2013

i like it really very much because it is true that in are country no one is bother for our freedom. in our country army level is also getting down day by day. i felt sad about it……………

hamsini के द्वारा
August 12, 2013

IT`S A NICE ONE

KHADIJA के द्वारा
July 19, 2013

Azadi ka matlab hona chahiye apne haq ko pura karna khuli hawa me nake darte darte……

SHYAM NANDAN PRASAD के द्वारा
August 11, 2012

agar hum apne bichar ko puri tark sangat ke sath rakhne men saksham hai, aur doosaron ko bhi utana hi azadi deten hain to samjho hamara desh puri tarah se azad hai.

    ISHWAR BHARDWAJ के द्वारा
    August 14, 2014

    DUBRA REPIT KARNA 09627006825 ISHWAR BHARDWAJ


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran