blogid : 3738 postid : 2755

संगीतकार सुरेश वाडेकर : Suresh Wadkar’s Profile

Posted On: 7 Aug, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Suresh Wadkar Songs and Profile in Hindi

पार्श्वगायक सुरेश वाडेकर भारतीय सिनेमा के शुरुआती गायकों में गिने जाते हैं. सुरेश वाडेकर ने आठ साल की उम्र से ही संगीत की शिक्षा लेनी शुरू कर दी थी. उन्होंने जिन महत्वपूर्ण फिल्मों में अपनी आवाज दी है उनमें ओंकारा, प्रेमरोग, राम तेरी गंगा मैली, हिना, रंगीला, माचिस आदि शामिल हैं.


suresh-wadkar-songsSuresh Wadkar: The Singer

22 साल की उम्र में उन्होंने एक संगीत प्रतियोगिता “सुर श्रृंगार” में भाग लिया. इस प्रतियोगिता में सभी ने उनकी बहुत ज्यादा तारीफ की. इसके बाद उन्हें पहली फिल्म “पहेली” में गाने का मौका मिला. इसके बाद फिल्म “गमन” के गीत ने सबको यह मानने पर मजबूर कर दिया कि इंडस्ट्री में एक बेहद प्रतिभशाली गायक का आगमन हो चुका है.


Suresh Wadkar’s Career

उनकी आवाज़ और प्रतिभा से प्रभावित लता जी ने उन्हें बड़े संगीतकारों से मिलवाया. लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने उन्हें फिल्म “क्रोधी” में गाने का मौका दिया. इस फिल्म के दो गीत “चल चमेली बाग़ में” और “मेघा रे मेघा रे” जैसे हिट गानों के बाद उनकी गिनती इंडस्ट्री के टॉप गायकों में होने लगी.


Suresh wadkar Bhajans

हालांकि सुरेश वाडेकर के कॅरियर ने उठान ली फिल्म “प्रेम रोग” के जबरदस्त गीतों से. इस फिल्म की सफलता में सुरेश जी के गानों का अहम रोल रहा. सुरेश वाडेकर ने ना सिर्फ हिन्दी बल्कि कई मराठी फिल्मों और भजनों में भी अपनी आवाज दी है. हाल के सालों में भी उन्होंने ओंकारा जैसी फिल्मों में गीत गाए.


Suresh Wadkar’s personal life

सुरेश वाडेकर ने क्लासिकल सिंगर पद्मा के साथ विवाह किया है. इस समय उनकी दो बेटियां आन्या और जिया हैं. पद्मा वाडेकर सारेगामा की पहली प्रतियोगी के तौर पर भी जानी जाती हैं.




Tags:           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

nand kishore narang के द्वारा
August 7, 2012

आपने film ;परिंदा ‘ को कैसे भुला दिया.उनका गाना तुमसे मिलके ऐसा लगा तुमसे मिलके , पूरे हुए अरमान दिल के.सबसे अधिक हिटहै.मैंने एक भजन बनाया है उनकी इस धुन के ऊपर. किरपा तेरी , किरपा तेरी रहेगी जो हम पे, निकलेगे हर मुश्किल से, बुराइयों से बचते रहे , प्रभु दे दे हमें इतना ज्ञान , ओ मेरे घन श्याम , ओ मेरे भगवन.”प्यार सभी से हम करेंनिर्बल या balwaan,हम हर dukhee की सेवा करें , निर्धन या धनवान , ओ मेरे……, जीवन युहीं कट ता गया, हर सुबहो शाम ये घटता गया , कर न सका शुभ काम , ओ मेरे……..(आप चाहें तो इसे अपने अखबार मैं छाप सकते हैं , रविवार के संस्करण main


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran