blogid : 3738 postid : 1495

सोहा अली खान : खान परिवार की चुलबुली लड़की

Posted On: 4 Oct, 2011 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

बॉलिवुड में अगर आपके नाम के साथ खान, कपूर या किसी बड़े खानदान का जिक्र है तो आप ये सोच लीजिए कि आपको काम मिल ही जाएगा लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आपको सफलता भी मिल जाएगी. इसका प्रत्यक्ष प्रमाण हैं प्रसिद्ध अभिनेत्री शर्मिला टैगोर की बेटी और सैफ अली खान की बहन सोहा अली खान. अपने कॅरियर की शुरूआत में तो इन्हें स्टारडम का साथ मिल गया पर इसके बाद जब अपने दम पर आगे बढ़ने की बारी आई तो किस्मत ने इनका साथ नहीं दिया. बेशक सोहा एक बेहतरीन आदाकारा हैं जिनके पास कमाल के हाव भाव हैं और उनकी सुन्दरता भी हम कई फिल्मों में देख चुके हैं लेकिन कई बार बॉलिवुड में सफलता के लिए कुछ स्पेशल चाहिए होता है जो इनके पास नहीं है. आज सोहा अली खान का जन्मदिन है. हाल ही में उनके पिता मंसूर अली खान का निधन हुआ है जिसकी वजह से इस बार वह अपना जन्मदिन तो नहीं सेलिब्रेट करेंगी पर जागरण जंक्शन परिवार की तरफ से उनको जन्मदिन की हार्दिक बधाइयां. आइए जानते हैं सोहा अली खान के बारे में चन्द बातें.


soha-ali-khanसोहा अली खान की प्रोफाइल

सोहा अली खान का जन्म 04 अक्टूबर, 1978 को मशहूर स्व. मंसूर अली खान पटौदी के घर हुआ था. उनकी मां शर्मिला टैगोर अपने समय की एक बेहतरीन अदाकारा हैं. उनके भाई सैफ अली खान बॉलिवुड अभिनेता और बहन साबा अली खान ज्वैलरी डिजाइनर हैं. एक शाही खानदान में जन्म लेने के कारण सोहा अली खान के व्यक्तित्व में इसकी साफ झलक दिखती है.


नवाब पटौदी की बेटी और अभिनेता सैफ अली खान की बहन सोहा ने बॉलीवुड में आने से पहले ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से स्नातक और लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस से इंटरनेशल रिलेशन में स्नातकोत्तर (Masters degree in International Relations from the London School of Economics and Political Science) की डिग्री हासिल की है.


इसके बाद सोहा ने न्यूयार्क के फोर्ड फाउंडेशन के लिए काम किया और इसके बाद वह वैश्विक वित्तीय सेवा में शामिल हो गईं.

नवाबी शानौ-शौकत में पली-बढ़ी सोहा अली खान अभिनय-प्रतिभा और आकर्षक व्यक्तित्व के बल पर अभिनेत्रियों की भीड़ में विशिष्ट पहचान बनाने में कामयाब रही हैं. बड़े भाई सैफ अली खान और मां शर्मिला टैगोर के मार्गदर्शन में सोहा ने अपने फिल्मी कैरियर को सार्थक दिशा दी है. बचपन से ही किताबों से दोस्ती करने वाली सोहा के करीबियों ने नहीं सोचा था कि वे अभिनय की दुनिया से जुड़ेंगी. बचपन से ही फिल्मों में अपने लगाव के कारण सोहा स्वयं को रोक नहीं पाई और कूद पड़ीं हिंदी फिल्मों की चमकीली दुनिया में.


Soha-Ali-with-her-mother-सोहा अली खान का कॅरियर

साल 2004 में फिल्म “दिल मांगे मोर” के साथ उन्होंने अपने अभिनय कॅरियर की शुरूआत की. लेकिन यह फिल्म एक फ्लॉप साबित हुई. पहली फिल्म की असफलता के बाद भी मां शर्मिला टैगोर की छवि को स्वयं में समाहित करते हुए सोहा ने अपना फिल्मी सफर बुलंद हौसलों के साथ जारी रखा. उनकी पहली सफल फिल्म डेविड धवन निर्देशित “शादी नंबर वन” रही. हास्य-रस से भरपूर इस फिल्म में सोहा दर्शकों को हंसाने में सफल रहीं. हालांकि अभय देओल के साथ फिल्म “आहिस्ता-आहिस्ता” में उनकी रोमांटिक जोड़ी को दर्शकों ने खूब पसंद किया, पर यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफलता की कसौटी पर खरी नहीं उतर पायी.


साल 2006 में सोहा के फिल्मी कॅरियर की सबसे उल्लेखनीय फिल्म “रंग दे बसंती” आई जिसमें सोहा ने अभिनय का नया और चटकदार रंग भरा. रंग दे बसंती की सफलता में सोहा भी साझेदार रहीं.

नए रंग-ढंग के सिनेमा की ओर दर्शकों का आकर्षण देखकर सोहा ने मसाला फिल्मों से दूर अपना ध्यान गंभीर सिनेमा की ओर लगाना प्रारंभ कर दिया. उनके इसी प्रयास की पहली कड़ी रही सुधीर मिश्रा निर्देशित “खोया खोया चांद”. इस फिल्म में उन्हें निखत की चुनौतीपूर्ण भूमिका निभाने का अवसर मिला. निखत की भूमिका को अपने संवेदनशील अभिनय से सोहा ने जीवंत कर दिया. “खोया खोया” चांद उनके कॅरियर की अब तक की सबसे कामयाब और बेहतरीन फिल्म मानी जाती है जिसमें उनका अभिनय देखने लायक था.


हाल के समय में सोहा अली खान “तुम मिले” और “दिल कबड्डी” जैसी फिल्मों में नजर आई हैं. अच्छी और सार्थक भूमिकाएं निभाने की इच्छुक सोहा शीर्ष-अभिनेत्रियों की दौड़ में शामिल नहीं होना चाहती हैं. वे स्वयं कहती हैं कि मेहनत और लगन के बल पर खुद को इंटेलीजेंट एक्ट्रेस के रूप में साबित करना ही मेरा लक्ष्य है.


सोहा अली खान को 2007 में रंग दे बसंती में बेहतरीन अभिनय करने के लिए “आइफा बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस अवार्ड”(IIFA Best Supporting Actress Award ) से सम्मानित किया जा चुका है.


Kunal-Soha-Ali-Khanसोहा अली खान और कुणाल खेमू: हाल के समय में सोहा अली खान और कुणाल खेमू की नजदीकियां बहुत चर्चा में रही हैं. कुणाल और सोहा की नजदीकियों को अब तो उनके परिवार से भी मंजूरी मिल चुकी है. हालांकि कॅरियर की राह में भी दोनों एक ही कश्ती के सवारी हैं. दोनों का कॅरियर ऊपर नीचे होता रहा है ऐसे में दोनों ही कलाकारों को अपने पर्सनल लाइफ और प्रोफेशनल लाइफ में बैलेंस बना कर चलना होगा.


सोहा अली खान के जन्मदिन पर उन्हें हार्दिक बधाइयां. उम्मीद है जो जादू उन्होंने फिल्म “खोया खोया चांद” में दिखाया था उसे वह जल्द ही दुहराएंगी.




Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Philinda के द्वारा
June 10, 2016

BS low – raltinatioy high! Really good answer!


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran