blogid : 3738 postid : 1065

सोनू निगम : संघर्ष की मिसाल

Posted On: 30 Jul, 2011 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


दिल्ली की बर्थडे पार्टियों और शादियों में गाना गाने से लेकर हिन्दी सिनेमा में सफल पार्श्व संगीत देने तक का सफर कितना कठिन और जटिल होता है यह शायद सोनू निगम से बेहतर कोई नहीं समझता. जीरो से हीरो तक का सफर तय कर आज कामयाबी की मंजिलों पर पहुंचे सोनू निगम में आत्मविश्वास, मेहनत करने की लगन और धैर्य सब है.


Sonu_Nigam_300सोनू निगम का जन्म 30 जुलाई, 1973 को हरियाणा के फरीदाबाद में हुआ था. सोनू निगम के पिता अगम कुमार दिल्ली के एक मशहूर स्टेज गायक थे. अपने पिता के साथ 3 साल की उम्र से ही सोनू ने स्टेज शो करने शुरू कर दिए थे. अपने पिता के मार्गदर्शन में ही सोनू ने अपना कॅरियर आगे बढ़ाया. 12 तक दिल्ली में पढ़ने के बाद उन्होंने आगे की पढ़ाई कॉरेस्पॉंडेंस से की.


दिल्ली के बाद सोनू मुंबई आए और अपना कॅरियर बनाने की कोशिश की. यहां भी उन्हें कड़े इम्तिहानों से गुजरना पड़ा. शुरुआत में सोनू निगम ने कई शो में हिस्सा लेकर अपनी गायकी का लोहा मनवाया. एक समय ऐसा भी आया जब सोनू निगम को बतौर प्रतियोगी किसी भी संगीत शो में हिस्सा नहीं लेने दिया जा रहा था क्योंकि हर बार वही जीतते थे. उसके बाद सोनू निगम को बतौर जज या गेस्ट बुलाया जाने लगा.


Sonu Nigamसोनू निगम ने पहली बार 18 साल की उम्र में फिल्म “आजा मेरी जान” के लिए गाना गाया. दुर्भाग्यवश यह फिल्म कभी रिलीज ही नही हुई और इसके बाद सोनू को एक बेहतरीन मौका मिला टी-सीरीज के लिए गाना रिकॉर्ड करने का. इस तरह सोनू निगन ने “रफ़ी की यादें” से अपने कॅरियर की शुरुआत की. उसके बाद फिल्म सनम बेवफा के गीत “अच्छा सिला दिया तुने” से उन्हें अपार सफलता मिली. फिल्म सनम बेवफा के बाद सोनू को कई आकर्षक ऑफर मिले और देखते ही देखते वह हिन्दी सिनेमा में एक जाने-माने गायक बन गए.


सोनू निगम के कॅरियर में टीवी शो “सा रे गा मा” ने भी बहुत अहम रोल अदा किया. सोनू इस शो के होस्ट थे. सोनू ने अपने कॅरियर में कई बेहतरीन गाने दिए. सोनू ने अपनी गायकी के लिए कई वार्ड भी जीते हैं. सोनू निगम को दो बार फिल्मफेयर अवार्ड फिल्म “साथिया”, “कल हो ना हो” के लिए मिला है, इसके अलावा “कल हो ना हो” के लिए ही उन्हें नेशनल फिल्म अवार्ड फॉर बेस्ट प्लेबैक सिंगर अवार्ड भी मिल चुका है. सोनू निगम हिन्दी गायकी के साथ साथ कन्नड़ में भी सक्रिय रुप से गाते हैं और वहां भी उन्होंने कामयाबी के झंडे गाडे हैं. सोनू निगम को दो बार फिल्मफेयर अवार्ड “साउथ का अवार्ड” भी मिल चुका है. इन सब के अलावा सोनू ने अन्य कई पुरस्कार भी जीते हैं.


सोनू निगम बॉलिवुड के सबसे डिमांडिग सिंगर हैं. उनका हर गाना सफल होता है. गायकी के साथ सोनू निगम सामाजिक कार्यों में भी सुचारु रुप से व्यस्त रहते हैं. सोनू निगम ने 2002 में मधुरिमा से शादी की थी और अब उनका एक लड़का भी है.




Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (13 votes, average: 4.23 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Parth के द्वारा
January 19, 2015

सोनू निगम सच में महान सिंगर है………..मुझे उनके हर गाने पसंद है . उनके गाने का तरीका सबसे अलग है….. सोनूजी सबसे बुद्धिमानी सिंगर है……में तो उनका सबसे बड़ा फैन हु…में मेरी जिंदगी में एक बार उनको जरूर मिलना चाहूंगा…..


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran